2 Rakat Nafil Namaz Ka Tarika – 2 रकात नफ्ल की नमाज का तरीका

आज के इस पैग़ाम में आप 2 रकात नफ्ल की नमाज पढ़ने का सही तरीका बहुत ही आसानी से जानेंगे, यहां पर हमने 2 रकात नफ्ल की नमाज अदा करने का दुरूस्त तरीका बहुत ही आसान लफ्जों में बताया है।

अगर आप इस पैग़ाम को आख़िर तक ध्यान से पढ़ लेंगे तो आप यकीनन 2 रकात नफ्ल की नमाज अदा करना सीख जाएंगे और अपने रब के फ़रमान के मुताबिक़ जिन्दगी गुजार कर चैन सुकून हासिल करेंगे इंशाअल्लाह।

2 Rakat Nafil Namaz Ka Tarika

2 रकात नफ्ल की नमाज भी बाकी नमाज की तरह सामान्य तरीके से अदा की जाती है यदि आप बाकी नमाज पढ़ना जानते हैं तो इस नमाज को भी आसानी से पढ़ लेंगे।

Must Read: Tahajjud Ki Namaz Ka Tarika

अगर नहीं भी जानते हैं तो इस पैग़ाम को आख़िर तक ध्यान से पढ़ें हमने बहुत ही आसान तरीके से एक एक करके 2 रकात नफ्ल की नमाज पढ़ने का तरीक़ा बताया है।

2 Rakat Nafil Namaz Ka Tarika – पहली रकात

  1. सबसे पहले नियत करके हांथ बांध लें।
  2. इसके बाद सना यानी सुब्हान क अल्लाहुम्म पुरा पढ़ें।
  3. इसके बाद अउजुबिल्लाह मिनश शैतानीर्रजीम पढ़ें।
  4. फिर तस्मियह यानी बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम पढ़ें।
  5. इसके बाद अल्हम्दु शरीफ यानी सूरह फातिहा पुरा पढ़ें।
  6. सूरह फातिहा पुरा पढ़ने के बाद धीरे से आमिन कहें।
  7. फिर नमाज में पढ़ी जाने वाली कोई एक सूरह को पढ़ें।
  8. इसके बाद अल्लाहु अकबर कहते हुए रूकूअ में जाएं।
  9. रूकूअ में तीन पांच या सात बार सुब्हान रब्बियल अज़ीम पढ़ें।
  10. फिर समिअल्लाहु लिमन हमिदह कहते हुए रूकूअ से उठें।
  11. इसके बाद रूकूअ से उठने पर रब्बना लकल हम्द कहें।
  12. अब अल्लाहु अकबर कहते हुए डायरेक्ट सज्दे में जाएं।
  13. सज्दे में कम से कम तीन बार सुब्हान रब्बियल अला पढ़ें।
  14. इसके बाद अल्लाहु अकबर कहते हुए सज्दे से उठें।
  15. फिर अल्लाहु अकबर कहते हुए दुसरी सज्दा में जाएं।
  16. दुसरी सज्दा में भी तीन बार जरूर सुब्हान रब्बियल अला पढ़ें।
  17. अब अल्लाहु अकबर कहते हुए सिधे खड़े हो जाएं दुसरी रकात के लिए।

2 Rakat Nafil Namaz Ka Tarika – दुसरी रकात

  1. अब दुसरी रकात में अउजुबिल्लाह मिनश शैतानीर्रजीम पढ़ें।
  2. फिर इसके बाद बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम पढ़ें।
  3. अब यहां भी सूरह फातिहा पुरा पढ़ें।
  4. इसके बाद पुरा पढ़ लेने पर आमिन कहें।
  5. फिर कोई एक नमाज में पढ़ी जाने वाली सूरह पढ़ें।
  6. इसके बाद अल्लाहु अकबर कहते हुए रूकूअ में जाएं।
  7. रूकूअ में जाने पर कम से कम तीन बार सुब्हान रब्बियल अज़ीम पढ़ें।
  8. फिर समिअल्लाहु लिमन हमिदह कहते हुए रूकूअ से उठें।
  9. रूकुअ से उठ जाने पर रब्बना लकल हम्द कहें।
  10. फिर तुरंत अल्लाहु अकबर कहते हुए सिधे सज्दे में जाएं।
  11. यहां भी सज्दे में कम से कम तीन बार सुब्हान रब्बियल अला पढ़ें।
  12. इसके बाद अल्लाहु अकबर कहते हुए बैठ जाएं।
  13. फिर तुरंत अल्लाहु अकबर कहते हुए दुसरी सज्दा करें।
  14. दुसरी सज्दा में भी तीन बार सुब्हान रब्बियल अला पढ़ें।
  15. अब अल्लाहु अकबर कहते हुए तशह्हुद के लिए बैठ जाएं।
  16. इसके बाद अत्तहिय्यात यानी तशह्हुद को पढ़ें।
  17. अत्तहिय्यात पढ़ते हुए जब अश्हदु ला पर पहुंचे तो दाहिने हाथ से शहादत उंगली खड़ा करें।
  18. फिर तुरंत इसके बाद अश्हदु ला के बाद इल्लाहा पर उंगली गिरा कर सीधी कर लें।
  19. इसके बाद दुरूद शरीफ में दुरूदे इब्राहिम को पढ़ें।
  20. फिर इसके बाद दुआए मासुरह को पढ़ें।
  21. अब आप इसके बाद सलाम फेर लें।
  22. सबसे पहले अस्सलामु अलैकुम व रहमतुल्लाह कहते हुए दाहिने तरफ गर्दन घुमाएं।
  23. फिर अस्सलामु अलैकुम व रहमतुल्लाह कहते हुए बाएं तरफ गर्दन को घुमाएं।

यहां आपकी 2 रकात नफ्ल की नमाज मुकम्मल हो गई इसके बाद आप जो चाहें दुआए अजकार करें।

2 Rakat Nafil Namaz Ki Niyat

नियत की मैने 2 रकात नमाज – ए – नफ्ल की वास्ते‌ अल्लाह तआला के मुंह मेरा काअबा शरीफ की तरफ अल्लाहु अकबर।

एक बात आपको बता दें कि जोहर हो या मगरीब ईशा हो या जुम्मा की नमाज़ हो सभी नफील नमाजों की नियत एक जैसी पढ़ के की जाती है।

अगर आप चाहते हैं कि मैं वक्त के नाम लेकर नफिल नमाज की नियत करूंगा तो इस तरह से करें – नियत की मैने 2 रकात नमाज जुहर की नफ्ल की वास्ते अल्लाह तआला के मुंह मेरा काअबा शरीफ की तरफ अल्लाहु अकबर।

जहां पर हमने जुहर लिखा है आप वहां पर जिस वक्त का भी नफिल नमाज अदा कर रहे हैं उसी खास वक्त या नमाज़ की नाम लेकर नियत करें।

Nafil Namaz Kitni Rakat Hoti Hai

नफिल की नमाज हर वक्त में दो ही रकात की होती है।

जोहर 2
मगरीब 2
ईशा 2, 2
जुम्मा 2
Nafil Ki Namaz Ki Rakat

FAQs

नफ्ल की नमाज में क्या पढ़ते हैं?

नफ्ल की नमाज में सूरह फातिहा , सूरह , अत्तहिय्यात , दुरूद शरीफ और दुआए मासुरह पढ़ते हैं।

नफ्ल की नमाज कितनी होती है?

नफ्ल की नमाज 2 रकात होती है दो दो रकात करके जितनी मर्जी चाहे पढ़ सकते हैं।

हम नफ्ल की नमाज कब अदा कर सकते हैं?

हम नफ्ल की नमाज जुहर मगरिब और इशा के साथ साथ कभी भी मकरूह वक्त के अलावा अदा कर सकते हैं।

क्या हम 4 रकात नफिल नमाज अदा कर सकते हैं?

एक बार की नियत में 4 रकात की नफिल नमाज नहीं अदा की जाती है बेहतर होगा आप 2-2 रकात करके पढ़ें।

आख़िरी बात

आप ने इस पैग़ाम में बहुत ही आसानी से 2 रकात नफ्ल नमाज पढ़ने का सही तरीका जाना यकीनन अब आप आसानी से 2 रकात नफ्ल नमाज पढ़ पाएंगे हमने यहां पर बहुत ही आसान और एक एक करके 2 रकात नफ्ल नमाज पढ़ने का सही तरीका लिखा था।

जिससे आप आसानी से समझ जाएं अगर अभी भी कुछ बात आपको ठीक से समझ में न आई हो या फिर कुछ डाउट या सवाल हो तो आप हमसे कॉमेंट करके ज़रूर पूछें हम आपके सवाल का जवाब जरूर करेंगे मेरा मकसद शुरू से ही है कि आसान लफ्ज़ों में सभी बात बताएं।

अगर यह पैगाम आपको अच्छा लगा हो तो आप इससे जो कुछ भी सीखें हो अपने अहलो अयाल अज़ीज़ अहबाब और दोस्तों को भी ज़रूर बताएं जिससे वो भी सही से 2 रकात नफ्ल नमाज अदा कर सकें और इस पैगाम को भी शेयर करें साथ ही अपने नेक दुआ में याद रखें शुक्रिया।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Zoseme. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Share This Post On

3 thoughts on “2 Rakat Nafil Namaz Ka Tarika – 2 रकात नफ्ल की नमाज का तरीका”

  1. Assalamualaikum kya hum subah ke namaz ke baad padh sakte hai aur agar ho to hum 5 wakt ke namaz ke baad nafal alag padh sakte Hain aur usme hum wakt na lagaye to chalega aur dusri baat hum jitni chahe utni nafal namaz padh sakte hai

    Reply
    • W…S… Nafl Kabhi Bhi Padh Sakte Hain Awkaate Makrooh Ko Chhod Kar, Jis Waqt Ki Nafl Ho Us Waqt Bhi Ada Kare. Samay N Milne Par Baad Me Bhi Padh Sakte Hain. Nafl Kitna Bhi Padh Sakte Hain.

      Reply

Leave a Comment