छह कलमा और उनका अनुवाद हिंदी में – 1 To 6 Kalma In Hindi

आज यहां पर आप बहुत ही अहमियत की इल्म यानी 1 से 6 तक सभी इस्लामी कलमे को हिंदी में पढ़ेंगे हमने यहां पर छह कलमा साथ ही साथ तर्जुमा भी हिंदी जबान के बहुत ही साफ व आसान लफ्ज़ों में लिखा है।

जिसे आप बहुत ही आसानी से पढ़ कर समझ जाएंगे यकीनन इसके बाद फिर आपको कहीं पर भी इस्लामी कलमे को नहीं तलाशनी पड़ेगी इसीलिए आप यहां पर ध्यान से पढ़ें और तर्जुमा भी समझें।

कलमा क्या होता है?

हमारे मज़हब में कलमा यानी इस्लाम की खुबसूरती इसकी स्तंभ और साथ ही साथ हम सब की ईमान है कलमा को पढ़ कर मानकर हम मुसलमान हुए कलमा हम सब के लिए बहुत ही बड़ी नेमत है इसकी वजह निम्नलिखित है:

  • कलमा ही हमें अल्लाह का खूबी बताता है।
  • कलमा पढ़ने से ईमान में ताज़गी आती है।
  • कलमा हम सब के लिए एक आला शान है।
  • कलमा हमारी ईमान को पुख्ता बनाता है।
  • कलमा हमारे लिए ताकत व कुव्वत है।
  • कलमा इस्लाम की सबसे पहली स्तंभ है।
  • कलमा इस्लाम का पहचान होता है।
  • कलमा से रब की एक होने का मालूम होता है।
  • कलमा से गुनाहों की मगफिरत भी होती है।
  • कलमा से घरों में बरकत भी होती है।

1. पहला कलमा तय्यिब

ला इलाहा इल्लल्लाहु मुहम्मदुर रसुलुल्लाह
Pehla Kalma In Hindi
Pehla Kalma In Hindi

पहला कलमा तय्यिब का तर्जुमा

अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं, हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु तआला अलैही वस्सलम अल्लाह के रसुल हैं।

2. दूसरा कलमा शहादत

अश्हदु अल्ला इलाहा इल्लल्लाहु वह दहु ला शरीका लहु व अश हदु अन्ना मुहम्मदन अब्दुहू व रसूलुहू
Dusra Kalma In Hindi
Dusra Kalma In Hindi

दूसरा कलमा शहादत का तर्जुमा

मैं गवाही देता हूं कि अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं वह अकेला है उसका कोई शरीक नहीं और मैं गवाही देता हूं कि हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम अल्लाह के बन्दे व रसुल हैं।

3. तीसरा कलमा‌ तम्जिद

सुब्हानल्लाहि वल हम्दु लिल्लाहि वला इलाहा इल्लल्लाहु वल्लाहु अकबर वला हौला वला कुव्वता इला बिल्ला हिल अलिय्यिल अज़ीम
Teesra Kalma In Hindi
Teesra Kalma In Hindi

तीसरा कलमा तम्जिद का तर्जुमा

अल्लाह की जात पाक है और तमाम तारीफें उसी के लिए है और अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं और अल्लाह ही बड़ा है उसकी मदद के बगैर किसी में ताकत व कुव्वत नहीं वह अजमत और बुजुर्गी वाला है।

4. चौथा कलमा तौहिद

ला इल्लाहा इल्लल्लाहु वह दहु ला शरीका लहु लहुल मुल्कू व लहुल हम्दु युहयी व युमीतु व हुवा हय्युल ला यमुतू अबदन अबदा जुल जलालि वल इकरामि बियदिहिल खैर व हुवा अल्ला कुल्लि शैईन कदीर
Chautha Kalma In hindi
Chautha Kalma In hindi

चौथा कलमा तौहिद का तर्जुमा

अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं वह अकेला है उसका कोई शरीक नहीं उसी के लिए मुल्क है और उसी के लिए तमाम तारीफें वही जिंदगी और मौत देता है वह जिंदा है उसको मौत नहीं वह हमेशा से है और हमेशा रहेगा वह जलाल और इकराम वाला है उसी के दस्ते कुदरत में भलाई है और वह हर चीज़ पर कादीर है।

5. पांचवां कलमा इस्तगफार

अस्तगफिरुल्लाहा रब्बी मिन कुल्लि जम्बिन अजनब तुहू अमदन अव खता अन सिर्रन अव अला नियतंव व अतूबु इलैहि मिनज जम्बिल लजी अअ् लमु व मिनज जम्बिल लजी अअ् लमु इन्नका अन्ता अल्लामुल गुयूबि व सतारुल उयुबि व गफ्फारुज जुनूबि वला हौला वला कुव्वता इला बिल्ला हिल अलिय्यिल अज़ीम
Panchwa Kalma In Hindi
Panchwa Kalma In Hindi

पांचवां कलमा इस्तगफार का तर्जुमा

मगफिरत चाहता हूं अपने रब अल्लाह से तमाम गुनाहों कि उन गुनाहों से जो मैंने जान कर किये भुल कर किये छुप कर किये या सब के सामने किये और तौबह करता हूं उन गुनाहों से जो मैं जानता हूं और उन गुनाहों से जो मैं नहीं जानता बेशक तू गैबों का जानने वाला है और बुराइयों को छुपाने वाला है और गुनाहों को बख्शने वाला है और अल्लाह की मदद के बगैर किसी में ताकत व कुव्वत नहीं वह अजमत और बुजुर्गी वाला है।

6. छठा कलमा रद्दे कुफ्र

अल्लाहुम्मा इन्नी अऊजु बिका मिन अन उशरि क बि क शैअंव व अना आअलमु बिही व अस्तगफिरू कलिमा लाअलमु बिही तुब्तु अन्हू व तबर्राअतु मिनल कुफरि वशिशर्कि वल किज्बी वल गीबति वल बिदअति वन्नमीमति वल फवाहिशि वल बुहतानी वल मआसी कुल्लिहा व अस्लम्तु व अकूलु ला इल्लाहा इल्लल्लाहु‌ मुहम्मदुर रसूलल्लाह।
Chata Kalma In Hindi
Chata Kalma In Hindi

छठा कलमा रद्दे कुफ्र का तर्जुमा

ऐ अल्लाह मैं तेरी पनाह मांगता हूं इस बात से की किसी चीज़ को मैं तेरा शरीक बनाउं और मुझे उसका इल्म हो और मैंने माफी मांगी तुझ से उस गुनाह की जिसका मुझे इल्म नहीं, और मैं बेजार हुआ कुफ्र से और शिर्क से और झूठ से और गिबत से और बिदअत से और चुगली से और बेहयाई के कामों से और तोहमत लगाने से और हर किस्म का नाफरमानियों से और तस्लीम किया मैंने और ईमान लाया मैं और कहता हूं कि अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं, हज़रत मुहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम अल्लाह के रसूल हैं।

For Details Click Below

  • Pehla Kalma In Hindi
  • Dusra Kalma In Hindi
  • Teesra Kalma In Hindi
  • Chautha Kalma In Hindi
  • Panchwa Kalma In Hindi
  • Chatha Kalma In Hindi

FAQs

कलमा कितना होता है?

मज़हब ए इस्लाम में कुल मिलाकर सब 6 कलमा होता है।

कलमा से क्या अभिप्राय है?

कलमा से रब का एक और केवल एक होने का अभिप्राय है।

कलमा का मतलब क्या होता है?

कलमा का मतलब अल्लाह का एक होना और वही सब होता है।

इस्लाम में कलमा क्यों पढ़ते हैं?

इस्लाम में कलमे को रब का एक होने का सबूत और ईमान की मजबूती के लिए पढ़ते हैं।

आख़िरी बात

आपने इस पैग़ाम में बहुत ही अच्छी जरूरी इल्म हासिल किया जिसमें आपने 1 से 6 तक सब इस्लामी कलमे को हिंदी में पढ़ने के साथ साथ हिंदी में तरजुमे को भी पढ़ कर समझा इसके बाद आप तो अब आसानी से कलमे को जानने के साथ साथ इसका मतलब भी जान गए होंगे।

अगर आप यहां पर कलमा पढ़ने में कहीं समझने में दिक्कत आ रही हो तो आप हमसे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं जी हां हम आपके हम आपके सभी सवालों का जवाब जरूर देंगे साथ ही साथ कहीं पर गलत दिखे तो भी आप हमें ज़रूर इनफॉर्म करें जिसे सुधार की जा सके।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो यानी इस उम्दा रहमत व बरकत भरी पैगाम से कुछ काम की जानकारी हासिल हुई हो तो जिन्हें ना मालुम हो उन्हें जरूर बताएं जिसे सब के सब कलमा और अनुवाद अच्छे से जान सकें साथ ही अपने नेक दुआओं में हमें भी याद रखें शुक्रिया।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Zoseme. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Share This Post On

Leave a Comment