So Kar Uthne Ki Dua – सो कर उठने की दुआ जानें हिंदी में

आप इस पैग़ाम में एक बहुत ही अहमियत वाली दुआ यानी सो कर उठने की दुआ जानेंगे, एक बहुत ही बड़ी खुशी की बात यह है कि इस ख़ूबसूरत मज़हब यानी मजहब ए इस्लाम में हर एक काम को इस्लामी तरीका से मुकम्मल करने का तरीक़ा बताया गया है जिसे हम सब मज़हब ए इस्लाम के लोग इस्लामी तरीका अपनाकर कामयाबी हासिल कर रहे हैं।

हम सब तो दुआ इस लिए करते हैं ताकि हमारा रब हम सभी को हर आफतो बरयाद से दूर रखें साथ ही इस जिंदगी में कामयाबी अता फरमाए, क्यूंकि हम सब के बारे में सबसे बेहतर हम सभी का रब अल्लाह तबारक व तआला जानता है और हम सभी हर मोमिन बन्दे का इच्छा पुरी फरमाता है।

आज आप एक ऐसे ही बहुत बेहतरीन और प्रशंसनीय दुआ, सो कर उठने की दुआ जानेंगे इस दुआ को आप हर सुबह उठने के बाद ज़रूर पढ़ेंगे उससे पहले आप यहां पर पढ़ कर याद कर लीजिए इस पैग़ाम को आप पूरा कंसंट्रेशन के साथ अव्वल यानी शुरु से आखिर तक पढ़ें।

Must Read:- Sone Ki Dua In Hindi

So Kar Uthne Ki Dua

  • अल्हम्दु लिल्लाहिल लजी
  • अह-यना बा’अदा मा
  • अमातना
  • व इलैहिन नुशूर

सो कर उठने की दुआ

अल्हम्दु लिल्लाहिल लजी अह-यना बा'अदा मा अमातना व इलैहिन नुशूर
so kar uthne ki dua Zoseme

सो कर उठने की दुआ का तर्जुमा

अल्लाह के लिए तमाम तारीफें है जिसने हमें जिंदा किया इसके बाद इसी ने मौत तारी (दे दी) कर दी थी और उसी के तरफ़ लौटना है।

So Kar Uthne Ki Dua in English Text

Alhamdu lillahil-lazi ‘ahyana baada ma amatana wailayhin -Nushur

So Kar Uthne Ki Dua Tarjuma

Allah Ke Liye Tamaam Tarife’in Hai Jisne Hame Jinda Kiya Iske Baad Isi Ne Maut Tari (De Di) Kar Di Thi Aur Usi Ke Taraf Lautna Hai.

सो कर उठने की तीन अवराद

सो कर उठने कि पहली दुआ

हज़रते सय्यिदना उबादा बिन सामित रजियल्लाहु तआला अन्हुं से रिवायत है कि हुज़ूरे पाक, साहिबे लौलाक, सय्याहे अफ़्लाक सलल्ललाहु तआला अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया कि जिस ने नींद से बेदार होकर कहा:-

ला इल्लाहा इल्ल अल्लाहु वहदहु ला शरी क लहु लहुल मुल्कू व लहुल हम्दु व हुव अला कुल्ली शइन कदिर अल्हम्दु लिल्लाहि व सुब्हानल्लाही व ला इल्लाहा इल्ल अल्लाहु व अल्लाहु अकबर।

जिस का तर्जुमा अल्लाह के सिवा कोई मा’बुद नहीं वो तन्हा है उस का कोई शरीक नहीं उसी कि बादशाही है और उसी कि खुबियां और वो हर चीज़ पर कुदरत रखता है अल्लाह पाक है और अल्लाह खुबियों वाला है और अल्लाह के सिवा कोई मा’बुद नहीं और अल्लाह सबसे बड़ा है और गुनाह से बचने कि कुव्वत और नेकी करने की ताकत अल्लाह के तरफ से हासिल होता है।

फिर अल्लाहु मगफिरली कहा या कोई दुआ मांगी तो उसे कुबुल कर लिया जाएगा, फिर अगर वुजू किया और नमाज पढ़ी तो उस की नमाज कबूल कर ली जाएगी।

सो कर उठने कि दुसरी दुआ

हज़रते सय्यिदना अब्दुल्लाह बिन अम्र रजियल्लाहु तआला अन्हुं से रिवायत है कि सरकारे वाला तबार, हम बे कसों के मददगार, शफिए रोजे शुमार, दो आलम के मालिको मुख्तार हबिबे परवर्द गार सलल्ललाहु तआला अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया।

जिस ने नींद से बेदार होते वक्त ‘बिस्मिल्लाह सुब्हान अल्लाह आमनतूबिल्लाह व कफरतू बिल जिबती वत तागुति’ पढ़ी। जिस का तर्जुमा है अल्लाह के नाम से अल्लाह पाक है मैं अल्लाह पर ईमान लाया और बुत और शैतान से मुन्किर हुवा। दस मरतबा पढ़ा तो हर उस गुनाह से बचा लिया जाएगा जिस का उसे खौफ हो और कोई गुनाह उस तक ना पहुंच सकेगा।

सो कर उठने कि तिसरी दुआ

अल्हम्दु लिल्लाहिल लजी अह-यना बा’अदा मा अमातना व इलैहिन नुशूर। जिस का तर्जुमा तमाम तारिफे अल्लाह तआला के लिए जिस ने हमें मौत (नींद) के बाद हयात (बेदारी) अता फरमाई और हमें उसी के तरफ लौटना है।

इसे भी अगर दस मरतबा पढ़ा तो हर उस गुनाह से बचा लिया जाएगा जिस का उसे खौफ हो और कोई गुनाह उस तक ना पहुंच सकेगा।

सो कर उठने पर यह ज़रूर करें

सबसे पहले दुआ वगैरह पढ़ने के बाद वसूले नेअमत पर अपने मुनइम का शुक्र बजा लाए ताकि हस्बे वादा मजीद कुरआनी नेअमतें पाएं।

हुजूरे कल्ब के साथ बारगाहे इल्लाही में अर्ज करें या रब मुहम्मद शबे मेअराज के दुल्हा का सदका या रब मुहम्मद किशवरे रिसालत के बादशाह का सदका हमारे दिल को मोमिनों कि खैर ख्वाही से भर दे।

अपने हाथ पांव धोएं और मिस्वाक करें अल्हम्दुलिल्लाह मिस्वाक की बहुत बड़ी बरकत है, गुस्ल न हो तो गुस्ल करें और वजु करके फजर की नमाज अदा करें, हमेशा अपने रब का शुक्रिया अदा किया करें।

आखिरी बात

हमने इस पैगाम के जरिए आपको सो कर उठने की दुआ को बहुत ही आसान लफ्ज़ों में बताया है, इस आर्टिकल में हमने आपको बहुत ही साधारण भाषा के साथ साथ हिंदी अंग्रेज़ी और अरबी में भी बताया है जिसे पढ़ने के बाद आप आसानी से समझ जाएं और अमल करें।

अगर यह पैगाम आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्त व अहबाब, अजीजो अकारिब तथा सभी मोमिनों तक पहुंचा कर सवाब ए दारैन हासिल करें क्यूंकि हमारा रब वैसे बन्दों से खुश होता है जिसने मज़हब ए इस्लाम की अच्छी बात सुनी और सब को बताई।

आपके इस छोटी सी कोशिश से क्या पता कितने इस दुआ को पढ़ कर अपने ज़िंदगी में हर आफत और गुनाह से बच जाएं, क्योंकि यहां पर हमने दुआ के साथ साथ आदाब भी बताया है आपको यह ज़रूर पसन्द आया होगा अगर आपके मन में कुछ डाउट या सवाल आ रहा हो तो कॉमेंट बॉक्स के माध्यम से अपना सवाल हमसे पूछ सकते हैं जिसका जवाब हमारी ओर से जल्द ही दी जाएगी।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Zoseme. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Share This Post On

Leave a Comment