Surah Al Qadar In Hindi – सूरह अल-कद्र पढ़ें हिंदी में

आज के इस पैगाम में आप सूरह अल-कद्र हिंदी में पढ़ेंगे हम सब का रब अल्लाह तबारक व तआला का कितना बड़ा करम व एहसान है कि इतनी पाकीज़ा मज़हब में हमें पैदा किया और ना जाने बहुत सारी नेअमतें दी।

हम सभी आज इस दुनियां में हर बड़े से बड़े काम को आसानी से निपटाते नज़र आ रहे हैं जिसका वजह हमारा रब है जिस ने बहुत ही खूबसूरत और आला तोहफ़ा कुरान दिया, इसी कुरान का एक छोटी सुरह हम आज पढ़ेंगे।

Surah Al Qadar In Hindi

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम

  • इन्ना अन जल नाहु फी लैलतिल कद्र
  • व मा अद रा क मा लैलतुल कद्र
  • लैलतूल कदरि खैरूम मिन अल्फि शह्र
  • तनज्जलुल मलाइकतु वररूहु फिहा बिइज्नि रब्बिहिम मिन कुल्लि अम्र
  • सलामुन हिय हत्ता मतलइल फज्र

Read Also:- Shab E Qadr Ki Namaz Ka Tarika

सूरह अल-कद्र हिंदी में

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम इन्ना अन जल नाहु फी लैलतिल कद्र. व मा अद रा क मा लैलतुल कद्र. लैलतूल कदरि खैरूम मिन अल्फि शह्र. तनज्जलुल मलाइकतु वररूहु फिहा बिइज्नि रब्बिहिम मिन कुल्लि अम्र. सलामुन हिय हत्ता मतलइल फज्र।

इसे भी पढ़ें:- शब ए क़द्र की दुआ

Surah Al Qadar English Transliteration

Bismillah Hirrahmaan Nirraheem. Inna An- JalnaaHu Fi Lailteel Qadr. Wamaa Adraaka Lailatul Qadri Khairum Min Alfee Shahr. Tanjjalul Mala-ikatu Warruhoo Feeha Bi ezni Rabbihim Min Quli Amra. Salamun Hiya Hatta Matlayl Fazra.

सूरह कद्र का तर्जुमा

अल्लाह के नाम से शुरू जो बहुत मेहरबान रहमत वाला. बेशक हमने उसे कद्र की रात में उतारा और तुमने क्या जाना क्या कद्र कि रात कद्र कि रात हजार महीनों से बेहतर उसमें फ़रिश्ते और जिब्रिल उतरते हैं अपने रब के हुक्म से हर काम के लिए वह सलामती है सुब्ह चमकने तक।

Surah Al Qadar Meaning

Allah Ke Naam Se Shuru Jo Bahut Meharbaan Rahmat Wala. Beshaq Humne Use Qadr Ki Raat Mein Utaara Aur Tumne Kya Jana Kya Qadr Ki Raat Qadr Ki Raat Hazar Mahino Se Behtar Hai Usmein Farishte Aur Zibrail Utarte Hain Apne Rab Ke Huqm Se Har Kaam Ke Liye Wah Salaamati Hai Subah Chamakne Tak.

सूरह कद्र की फजीलत

  1. किसी शख्स को अपनी आंख को लेकर किसी भी तरह की कोई परेशानी हो तो अपने जुबान से 21 मरतबा सूरह अल-कद्र पढ़कर अपने हाथों से अपने आंखों के उपर फेर लें।
  2. अगर आप इस वजीफा को लगातार 90 दिनो तक करते हैं तो इंशाअल्लाह आपकी आंखों में तंदुरुस्ती होगी और सभी तरह की परेशानियों से आपको निजात मिलेगी।
  3. एक और अच्छी बात ये है कि अगर आप कोई भी चीज़ खा रहे हैं लेकिन उसमें क्या हानि की चीज़ है आपको पता नहीं तो ऐसे में उस पर तीन 3 बार सूरह अल-कद्र पढ़ कर खाएं।
  4. इस तरह से खाने से किसी भी होने वाले जिस्मानी खतरा और बला टल जाएगी इंशाअल्लाह अल्लाह आपके शरीर को सही और मज़बूत रखेगा।
  5. सबसे बड़ी और अच्छी फजीलत यह है कि सूरह अल-कद्र को 4 चार मरतबा पढ़ने से एक बार कुरान ए पाक का पढ़ने का सवाब हासिल होता है।

सूरह अल-कद्र के बारे में जानिए

सुरह अल-कद्र मदनी है और कुछ के अनुसार मक्की है इसमें एक 1 रूकुअ पांच 5 आयतें तीस 30 कलिमे और एक सौ बारह 112 अक्षर है. यानी कुरआन शरीफ को लौहे महफुज से आसमाने दुनिया की तरफ एक साथ।

शबे कद्र बुजूर्गी और बरकत वाली रात है इसको शबे कद्र इसलिये कहते हैं कि इस रात साल भर के अहकाम लागु किये जाते हैं, और फरिश्तों को साल भर के वजिफों और खिदमतों पर लगाया गया है।

आख़िरी बात

आप ने इस पैग़ाम में सूरह अल-कद्र हिंदी और बहुत ही आसान लफ्ज़ों में पढ़ा और यकिनन आप इस सूरह अल-कद्र को याद भी कर लिए होगें आप को अच्छे से समझ आ जाए इसीलिए हम ने यहां पर इंग्लिश ट्रांसलिटरेशन में भी लिखा।

यहां पर हमने बहुत ही हर एक लफ्ज़ को आसानी से और सही तरीक़े से पेश किया है आप इसी तरह पढ़ें और बेहतर यह होगा की इसे याद करने के बाद किसी जानकार मोमिन भाई या बहन को सुनाएं।

आपका इससे यह फ़ायदा होगा की आप हर हर्फ हर लफ्ज़ को सही से उच्चारण कर सकेंगे इससे आपको सही से पढ़ने का पूरा सवाब हासिल होगा और साथ ही कुरान की आदाब भी पुरी हो जाएगी।

आप को शायद मालूम भी होगा की कुरान का हिंदी में सही से उच्चारण नहीं हो पाता है इसीलिए पूरा अदब व एहतराम से पढ़ कर याद करें और इल्म वाले को ज़रूर सुनाएं अगर यह पैगाम आपको अच्छा लगा हो तो दूसरो तक भी पहुंचाएं।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Zoseme. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Share This Post On

Leave a Comment