About Us

आप सभी को ZOSEME के जरिए मज़हब ए इस्लाम की सभी इल्म जैसे नमाज़, रोज़ा, दुआ, हदीस, मसाइल, सुरह, आयत, अज़कार, अज़ान, इस्लामी बयान, इस्लामी ज़िंदगी के तरीके, और भी इस्लामी मालूमात जानने को मिलेगी, यहां पर सभी अशिकाने रसूल के लिए सभी बातों को हिन्दी भाषा के साथ साथ आसान लफ्ज़ों में इल्म दी जाती है।

अगर हम अपने बारे में जानकारी दें तो सबसे पहले हम आप को यह बताना चाहेंगे कि ZOSEME के हम दो व्यक्ति संस्थापक हैं, हमें अपने पाक मज़हब यानी मज़हब ए इस्लाम की इल्म अव्वल में इस्लामिक स्कूल से हासिल किया और अब इस्लाम की इल्म सभी अशिकाने रसुल तक पहुंचाने का जिम्मेदारी निभा रहा हूं, हम आपके दरमियान सभी बातों को इस्लामी किताबों में आला तरीके से रिसर्च करने के बाद उसे आप तक आसान लफ्ज़ में पेश करते हैं।

Mission

हमारा उद्देश्य अव्वल से यानी शुरूआत से अभी तक यह रहा है कि हम अपने मजहब की बातों को सभी मोमिनों तक पहुंचाए, हमने इस आधुनिक जमाने में यह देखा कि बहुत सारे हमारे मजहब ए इस्लाम में ऐसे शख्स हैं जो अपना जिन्दगी सिरात अल मुस्तकीम पर गुजारना चाह रहे हैं लेकीन जानकारी यानी इल्म न होने के कारण अपना इच्छा पुरा नहीं कर पा रहे हैं।

हम सभी का इच्छा होता है की हम अपने मज़हब ए इस्लाम की राह पर जिंदगी गुजारे इसका मतलब यह है कि नमाज़, रोज़ा, हज, ज़कात, सदकात, फित्रारात, से अपने रब को राज़ी करें जब वो राज़ी तो सभी राज़ी यही मज़हब ए इस्लाम की खुबसूरती भी है, यही सब बातों को ध्यान में रखते हुए हमने ZOSEME को साल 2022, 1444 हिज़री में शुरु किया।

हमने इसमें सभी इस्लामी इल्म को हिन्दी भाषा में लिखा क्यूंकि इस मॉर्डन वर्ल्ड में सभी के पास इनरनेट मौजुद है जिसके माध्यम से उनकी रुचि अपने रब के बताए रास्तों पर चलने की बढ़ रही है, उनकी रूचि को देखते हुए हमे बहुत खुशी मिली की भले ही बचपने की आलम में इस्लामी तालिम हासिल ना कर पाए लेकीन अभी कोशिश कर रहे हैं, हम आपसे यही कहना चाहेंगे की अपने रब की बताए हुए रास्ते पर चलें और अपने रब रब ए कायनात अल्लाह तबारक व तआला को खुश रखें।

Request

हम सभी इंसान हैं और हमारी फितरत में गलतियां मशहूर है, तो हम आपसे यह बात कहना चाहेंगे कि अगर किसी भी प्रकार की कोई पैग़ाम में अगर आपको कोई त्रुटी दिखे या फिर किसी तरह की बात समझ ना आए तो आप हमसे ईमेल के ज़रिए कॉन्टैक्ट करने का कष्ट कर के हमें आभारी करेंगे।

हालांकि मैं आपको यह बात बता देना चाहता हूं कि इस पर जितने भी पैगाम हमारे जरिए पेश की गई है उन सभी पैगामों को हमारे द्वारा काफी अच्छे तरीके से लिखने के बाद एक से दो मर्तबा पढ़ने के बाद ही आप तक पहुंचाते हैं, लेकिन हम सभी इंसान हैं कुछ ना कुछ गलती हो ही जाती होगी मैं यह दावे के साथ नहीं कह सकता कि नहीं होती होगी कितना भी ध्यान केंद्रित करके किसी भी काम को अंजाम देने से भी कुछ ना कुछ छूट जाती है इसीलिए बराय मेहरबानी हम से संपर्क करने का जरूर कोशिश करें।

आप हमें अपनी किमती वक्त में से सिर्फ कुछ मिनटों के लिए जरुर वक्त निकालें, इसका फ़ायदा यह होगा की आपकी और हमारी वजह से बहुत मोमिन अपने रब को राज़ी करेंगे जिसका सवाब का कुछ हिस्सा दोनों को मिल जाएगा, हम सभी हर वक्त अपने रब के मोहताज हैं, क्यूंकि गुनाहों की दौलत से बहुत मालामाल हैं हमलोग इसीलिए हर वक्त को अच्छे कामों में जाया करें, आपकी मोहब्बत का दिली शुक्रिया अपनी दुआओं में हमें भी जरूर याद रखें।

Zosemepremium@gmail.com